व्हाट्सऐप स्टेटस हिंदी में

व्हाट्सऐप स्टेटस हिंदी में

हक़ीक़त ना सही तुम ख़्वाब बन कर मिला करो,
भटके मुसाफिर को चांदनी रात बनकर मिला करो।

बचपन से ही शौक था अच्छा इंसान बनने का, लेकिन बचपन खत्म और शौक भी खत्म।

सपने हमेशा बड़े_देखो,
सोच  तो लोगों की छोटी! है ही ।।

इससे ज़्यादा तुझे और कितना करीब लाऊँ मैं, कि तुझे दिल में रख कर भी मेरा दिल नहीं भरता।

देख Baby_Photo मेरी अच्छी है।
Soch मेरी सच्ची है,
लेकीन अब भी मैं तुझे Pasand नही आया
तो SweetHart अभी तु Bachchi है

दिल तो रोज कहता है मुझे कोई
सहारा चाहिए
फिर दिमाग़ कहेता है
क्यों तुम्हें धोखा दोबारा चाहीए...

कुछ ज्यादा बड़ी ख्वाईशें नही है मेरी रब से
बस 3 – 4 लडकिया  मुझे बाबू_बाबू बोलने
के लिए आपस मे लड़ पड़े..

प्यार वो _नही जिसमे Attitude और Ego हो,प्यार _तो वो है जिसमें _एक रूठने मे Expert हो तो दूसरा मनाने में Perfect हो

हम इस तरह  हारेंगे कि तुम
जीत  कर भी पछताओगे ..

 यदि तुम्हे कोई नज़र अंदाज कर दे तो बुरा मत मानना, लोग अक्सर बर्दास्त से बहार महँगी चीज को नजर अंदाज कर देते हैं।

छोटी सी जिंदगी है, हंस के जियो, भुला के ग़म सारे, दिल से जियो, अपने लिए न सही, अपनों के लिए जिओ।

 विश्वास एक छोटा शब्द है, उसको पढने में तो एक सेकेंड लगता है, सोचो तो मिनट लगता है, समझो तो दिन लगता है, पर साबित करने में तो जिंदगी लग जाती है।

 इस ज़माने में वफ़ा की तलाश न कर मेरे दोस्त, वो वक्त और था जब मकान कच्चे और लोग सच्चे हुआ करते थे।

जो आपसे दिल से बात करता हो, उसे कभी दिमाग से जवाब मत देना।

वो सपने सच नहीं होते जो सोते वक्त देखे जाते हैं , सपने वो सच होते हैं जो आपको सोने नहीं देते।


तु सिर्फ मेहनत करता जा छोटे,
शोर तो तेरी Lamborghini  मचा ही देगी

बातो को मेरी तुम भुला ना सकोगे,
जी तोड़ मेहनत करने के बाद भी हमे पटा ना सकोगे। 

कुछ ऐसा काम करो कि आपके माता-पिता अपनी प्रार्थना में कहें  ” हे प्रभु !  हमें हर जन्म में एसी ही संतान देना।”

नाख़ून बढ़ने पर नाख़ून ही काटे जाते हैं, उंगलिया नहीं, इसी तरह रिश्तों में दरार आ जाए तो दरार को मिटाएं, रिश्ते को नहीं।

ज़िन्दगी का पहला कपड़ा लंगोट – जेब नहीं , जिंदगी का आखिरी कपड़ा कफ़न-जेब नहीं, फिर सारी  जिंदगी जेब भरने की खटपट क्यों ?

सफ़र में मुश्किलें आएं तो जरुरत और बढ़ती है, कोई जब रास्ता रोके तो हिम्मत और बढ़ती है।

पैर में मोच और छोटी सोच इन्सान को कभी आगे नहीं बढ़ने देते।


दो अक्षर का होता है लक, ढाई अक्षर का होता है भाग्य , तीन अक्षर का होता है नसीब, साढ़े तीन अक्षर की होती है किस्मत पर ये चारो के चारो, चार अक्षर की  “मेहनत” से छोटे होते हैं।

ज़िन्दगी के बदल जाने में कभी वक्त नहीं लगता, पर कभी-कभी वक्त बदल जाने में पूरी ज़िन्दगी  लग जाती है ।

 इस दुनिया में बिना स्वार्थ के सिर्फ माता-पिता ही प्यार कर सकते हैं।

Related Posts

Post a comment