Warehousing (भंडारण सेवाएं)

 Warehousing (भंडारण सेवाएं)

भंडारण का अर्थ क्या है ?

भंडारण का अर्थ उन गतिविधियों से है, जो एक बड़े पैमाने पर माल एक व्यवस्थित तरीके से सुरक्षित रखना और जरूरत पड़ने पर आसानी से उन्हें उपलब्ध कराना।


भंडारण की आवश्यकता क्यों है ?

१) मौसमी उत्पादन - कृषि उत्पादों का उत्पादन साल के विशेष मौसम में होता है पर उसकी कपत पुरे साल होती है। इसलिए, उचित भंडारण की आवश्यकता है।

२) मौसमी मांग - कुछ सामान हैं जिनकी मांग मौसमी तौर पर है , जैसे बारिश में छाते, सर्दियों में ऊनी कपड़ों आदि।लेकिन इन वस्तुओ का उत्पादन पूरा साल होता रहता है। इसलिए इन वस्तुओ के सही भंडारण की आवश्यकता होती है।

३) बड़े पैमाने पर उत्पादन - निर्माता भी भारी मात्रा में माल का उत्पादन करते हैं बड़े पैमाने पर उत्पादन के लाभों का आनंद लें, जो अधिक किफायती है। इसलिए तैयार उत्पाद, जो बड़े पैमाने पर उत्पादित होते हैं, की आवश्यकता होती है जब तक वे बिक्री से साफ नहीं हो जाते, तब तक ठीक से संग्रहीत किया जा सकता है। 

४) तुरंत आपूर्ति - दोनों औद्योगिक और साथ ही कृषि सामान हैं कुछ विशिष्ट स्थानों पर उत्पादित किया जाता है, लेकिन पूरे उपभोग किया देश में किया जाता है।

५) निरंतर उत्पादन - कारखानों में माल का निरंतर उत्पादन के लिए कच्चे माल की पर्याप्त आपूर्ति की आवश्यकता है। 

६) मूल्य में स्थायित्व - बाजार में कीमत का उचित स्तर बनाए रखें माल पर्याप्त गोदामों में स्टॉक रखने की जरूरत है।कृषि उत्पादों का उत्पादन साल के विशेष मौसम में होता है पर उसकी कपत पुरे साल होती है। इसलिए, उचित भंडारण की आवश्यकता है।


भंडारगृहों के प्रकार लिखो

१) निजी भंडारगृह - जिन गोदामों का स्वामित्व और प्रबंधन है निर्माताओं या व्यापारियों द्वारा स्टोर करने के लिए, विशेष रूप से, माल के अपने स्टॉक को निजी गोदामों के रूप में जाना जाता है। 

२) सार्वजनिक भंडारगृह - जिन गोदामों में माल का भंडारण आम जनता करते है उसे सार्वजनिक गोदाम के रूप में जाना जाता है। भुगतान के आधार पर इन गोदामों में उसका माल कोई भी स्टोर कर सकता है। 

३) सरकारी भंडारगृह - इन गोदामों का स्वामित्वकेंद्र या राज्य सरकारों या सार्वजनिक निगमों द्वारा नियंत्रित या स्थानीय अधिकारी प्रबंधन है। दोनों सरकारी और निजी उद्यमों ये गोदाम अपने माल को स्टोर करने के लिए उपयोग कर सकते हैं।

४) बंधक भंडारगृह - इन भंडारगृह स्वामित्व, प्रबंधित और सरकार के साथ-साथ निजी एजेंसियों द्वारा नियंत्रित है । निजी बंधुआ गोदामों को सरकार से लाइसेंस प्राप्त करना होता है। 

५) सहकारी भंडारगृह - ये गोदाम स्वामित्व, प्रबंधित और सहकारी समितियों द्वारा नियंत्रित होते हैं।


आदर्श भंडारगृह का लक्षण लिखो
१) भंडारगृह राजमार्गों के निकट सुविधाजनक स्थान पर स्थित होना चाहिए,रेलवे स्टेशन, हवाई अड्डे और बंदरगाह जहां माल लोड आसानी से उतार दिया जा सकता है।
२) माल को लोड करने और उतारने के लिए यांत्रिक उपकरण होने चाहिए।
३) उचित क्रम में माल को रखने के लिए पर्याप्त जगह उपलब्ध होनी चाहिए।
४) गोदामों का मतलब फलों जैसे खराब होने वाली वस्तुओं के संरक्षण के लिए है, सब्जियों, अंडे और मक्खन आदि में कोल्ड स्टोरेज की सुविधा होनी चाहिए।
५) सामान को धूप से बचाने के लिए उचित व्यवस्था होनी चाहिए, बारिश, हवा, धूल, नमी, कीटाणु आदि।
६) सुविधा के लिए परिसर के अंदर पर्याप्त पार्किंग की जगह होनी चाहिए आसान और त्वरित लोडिंग और माल की उतराई के लिए ।
७) चोरी से बचने के लिए चौबीस घंटे सुरक्षा व्यवस्था होनी चाहिए।
८) इमारत को नवीनतम अग्निशमन उपकरणों से सुसज्जित किया जाना चाहिए आग के कारण माल के नुकसान से बचें।

भंडारगृह की कार्य लिखो

१) वस्तुओ का भंडारण- भंडारगृह का मुख्य काम बड़ी मात्रा में वस्तुओ का भंडारण करना होता है। 

२) वस्तुओ की सुरक्षा- एक गोदाम माल से सुरक्षा प्रदान करता है गर्मी, धूल, हवा और नमी, आदि के कारण नुकसान।

३) जोखिम उठाना - गोदामों माल के भंडारण के लिए आकस्मिक जोखिम उठाते हैं। एक बार माल भंडारण के लिए गोदाम-रक्षक को सौंप दिया जाता है, इन सामानों की जिम्मेदारी वेयरहाउस-कीपर को दी जाती है। 

४) वित्तीय सुविधाएं प्रदान करना - जब किसी भी गोदाम में माल जमा किया जाता है, तो जमाकर्ता एक रसीद मिलती है, जो माल जमा करने के बारे में प्रमाण के रूप में काम करती है। 

५) प्रक्रमण - कुछ वस्तुओं का उपभोग उनके रूप में नहीं किया जाता है जब उत्पादित किए जाते हैं। उन्हें उपभोग्य बनाने के लिए प्रक्रमण की आवश्यकता होती है। उदाहरण के लिए, धान को पॉलिश किया जाता है, लकड़ी को सीज किया जाता है, फल को पकाया जाते हैं आदि। 

६) ग्रेडिंग और ब्रांडिंग- निर्माता की ओर से अनुरोध पर गोदाम से माल की ग्रेडिंग और ब्रांडिंग,कार्य करते हैं। 

७) परिवहन व्यववस्था - गोदाम थोक जमाकर्ताओं के लिए परिवहन व्यवस्था प्रदान करते हैं। यह उत्पादन स्थान से माल एकत्र करता है |


भंडारगृह के लाभ लिखो

१) वस्तुओ की सुरक्षा और संरक्षण - यह वस्तुओ को सुरक्षित रखते है, उनको टूट -फूट से बचाते है। यह टूटना, बिगड़ने से नुकसान को कम करता है गुणवत्ता, खराब होना आदि।

२) वस्तुओ का नियमित आपूर्ति - चावल, गेहूं आदि जैसे सामग्री एक विशेष मौसम के दौरान उत्पादित होता है लेकिन पूरे साल भर में खपत होती है। वेयरहाउसिंग ऐसे मौसमी जिंसों की नियमित साल भर आपूर्ति सुनिश्चित करता है। 

३) उत्पादन में निरंतरता- वेयरहाउस निर्माताओं को निरंतर उत्पादन जारी रखें सक्षम बनाता है। 

४) सुविधाजनक स्थान - गोदाम आमतौर पर सुविधाजनक पर स्थित हैं माल की आवाजाही को सुविधाजनक बनाने के लिए सड़क, रेल या जलमार्ग के पास के स्थान। 

५) साज - संभाल में आसानी - सामानों को संभालने के लिए आधुनिक गोदाम आमतौर पर यांत्रिक उपकरणों से सुसज्जित होते हैं। आधुनिक मशीनों की उपयोग से सामन को उतारने - चढ़ाने में होने वाले नुकसान की संभावनाएं कम हो जाती है। 

६) छोटे व्यवसायियों के लिए उपयोगी - किराए के रूप में मामूली राशि का भुगतान, वे कर सकते हैं अपने कच्चे माल के साथ-साथ सार्वजनिक रूप से तैयार उत्पादों का गोदामों संरक्षण करें।

७) रोजगार के अवसर - गोदाम देश के हर हिस्से में कुशल और अकुशल श्रमिकों दोनों के लिए रोजगार अवसर पैदा करते हैं।

८) वस्तुओ की बिक्री की सुविधा - माल की बिक्री के लिए आवश्यक विभिन्न कदम जैसे संभावित खरीदारों द्वारा माल का निरीक्षण, ग्रेडिंग, गोदामों पर ब्रांडिंग, पैकेजिंग और लेबलिंग की जा सकती है। 

९) वित्तय उपलब्धता - बैंकों से ऋण आसानी से जुटाया जा सकता है और गोदाम की सुरक्षा के खिलाफ अन्य वित्तीय संस्थान वारंट।

१०) नुकसान का जोखिम कम करता है - गोदामों में माल अच्छी तरह से संरक्षित होता है। संग्रहित माल को मुआवजे के लिए भी बीमित किया जा सकता है नुकसान का मामला।


Related Posts

Post a comment